आज बहुत बिकी है मोहब्बत, सरेबाज़ार इस तरह.., मुझे आशिक नहीं शायद , अब खरीदार होना है,

आज बहुत बिकी है मोहब्बत, सरेबाज़ार इस तरह,
मुझे आशिक नहीं शायद , अब खरीदार होना है,

Share
By | 2017-09-04T09:52:13+00:00 September 4th, 2017|Blog|0 Comments