वो खंजर लेके बैठे थे , और हम अपना दिल…,

वो खंजर लेके बैठे थे , और हम अपना दिल ………………………………………………………………………………………………
मुगालता हसीन था , और हसीना क़ातिल

Share
By | 2018-02-14T13:00:59+00:00 August 28th, 2017|Blog|0 Comments